Home News क्या है ब्लू व्हेल गेम

क्या है ब्लू व्हेल गेम

written by Atul Mahajan August 11, 2017
Blue whale game

ब्लू व्हेल गेम को 2013 में रूस के फिलिप बुडेकिन नाम के व्यक्ति ने बनाया था जो अभी फिलहाल जेल में है वह मनोवैज्ञानिक रूप से गेम खेलने वाले को अपने कंट्रोल में कर लेता है। यहाँ तक कि वह खिलाड़ी का फोन भी हैक कर लेता है और यदि खिलाड़ी  खेलना छोड़ना चाहें तो वह उसे मारने तक की धमकी देता है और ब्लैकमेल करता है वह इस तरीके से प्रेरित करता  है यदि आप इस गेम को पूरा नहीं कर पाए तो आप धरती पर रहने लायक नहीं है आप को जीने का कोई अधिकार नहीं है। रूस में पहला सुसाइड 2015 में सामने आया था। इसके बाद फिलिप को गिरफ्तार कर लिया गया और उस पर केस चला। सुनवाई के दौरान फिलिप ने बताया कि उनके गेम का मकसद समाज की सफाई करना है। जिन लोगों ने गेम खेलते हुए आत्महत्या की है, फिलिप की नजर में वे ‘बयोलॉजिकल वेस्ट’ थे।

क्या कोई इंटरनेट गेम किसी की जान ले सकता है? अभी तक तो लगता था कि ऐसा नहीं हो सकता, लेकिन जब से ब्लू वेल नाम का गेम आया है, इसने दुनियाभर में 250 से ज़्यादा लोगों की जान ले ली है। इनमें अकेले रूस में 130 से ज़्यादा मौतें हुई हैं। इसके अलावा पाकिस्तान और अमेरिका समेत 19 देशों में इस गेम की वजह से खुदकुशी के कई मामले सामने आए हैं। अब इन जान गंवाने वाले लोगों की लिस्ट में अपने देश का भी नाम शामिल हो गया है। आइए जानते है कि है क्या ये ब्लू वेल गेम ।

वैसे तो ब्लू व्हेल गेम इंटरनेट पर साधारण तौर पर डाउनलोड करने के लिए उपलब्ध नहीं है, ब्लू व्हेल गेम को केवल डार्क वेब डाउनलोड किया जा सकता है ब्लू व्हेल गेम पूरे 50 दिन तक खेला जाता है जब आप इसे खेलना शुरू करते हैं तो हर दिन के लिए एक टॉस्क दिया जाता है गेम का एडमिन आपको रोज टॉस्क आपके बारे में जानकारी देता है कि आपको अगले 50 दिन तक क्या-क्या करना है ब्लू व्हेल गेम के अगली स्‍टेज जाने के लिए आपको टॉस्क पूरा करना होता है और उसकी सेल्फी खींचकर अपने दोस्तों के साथ शेयर करनी होती है शुरुआती दिनों में सरल टॉस्क दिए जाते हैं जैसे कागज पर ब्लू व्हेल की तस्वीर बनाना डरावनी फ़िल्में देखना, रात केअंधेरे में किसी भयानक जगह पर जाना लेकिन जैसे-जैसे कीमती फाइनल स्टेज आती है और टॉस्क खतरनाक होते जाते हैं । साथ ही हर टास्क पूरा होने के साथ प्लेयर को अपने हाथ पर एक कट लगाने के लिए कहा जाता है। आखिरी में तो आकृति उभरती है, वह व्हेल की होती है।

ब्लू व्हेल गेम खेलने वाले यूजर को अपने हाथ पर चाकू से व्हेल मछली गोदनी होती है तथ तथा ब्लू व्हेल गेम के अंतिम दिन आपको किसी ऊँची बिल्डिंग से छलांग लगाने के लिए बोला जाता है गेम के एडमिन द्वारा प्लेयर को इस तरीके से प्रेरित किया जाता है कि अगर वह टॉस्क पूरा नहीं कर पाएगा तो वह डरपोक और कायर कहलाएगा।

मुंबई में भी 14 साल के एक बच्चे ने बिल्डिंग से कूदकर सुसाइड कर लिया और माना जा रहा है कि ये सब हुआ इसी क़ातिल ब्लू व्हेल गेम की वजह से। ब्लू व्हेल गेम के चलते भारत में किसी की जान जाने का ये पहला मामला है। पुलिस ने बताया कि नौवीं कक्षा के छात्र ने शनिवार को शाम करीब पांच बजे उपनगर अंधेरी के शेर ए पंजाब क्षेत्र में एम्पायर हाइट्स सोसाइटी की पांचवीं मंजिल से कूदकर कथित रूप से आत्महत्या कर ली थी। घटना के समय इमारत के पास खड़े एक व्यक्ति ने पुलिस को इस बारे में अलर्ट किया था। पुलिस इस घटना के कारण खोजने में जुटी है और यह पता कर रही है कि क्या इसका किसी तरह से सम्बंध ऑनलाइन गेम से है। ये भी पता चला है कि 9वीं में पढ़ने वाले उस बच्चे ने खुदकुशी से पहले अपने इरादे के बारे में दोस्तों को सोशल साइट पर बताया था। बच्चे ने अपने दोस्तों को ये भी बताया था, ‘एक अंकल मुझे हटने के लिए बोल रहे हैं। जैसे ही वे हटेंगे, मैं कूद जाऊंगा।’ और हुआ भी यही।

अब जबकी यह गेम हमारे भारत में भी प्रवेश कर चुका है अपने बच्चो को इस गेम से दूर ही रखे

उन्हें समझाए की इस गेम को बनाने वाले फिलिप बुडेकिन ने खुद इस ब्लू व्हेल गेम खेलने वाले बच्चों को बयोलॉजिकल वेस्ट कहा है

You may also like

Leave a Comment

Loading...