अब दिल्ली में चालक रहित मेट्रो

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने  25 दिसंबर को जब मेट्रो की मजेंटा लाइन का उद्घाटन किया तब दिल्ली मेट्रो (Delhi Metro) अपने  15 साल  पूरा कर रही थी । यानि इसकी शुरुआत  25 दिसंबर, 2002 को हुई थी जब शाहदरा से तीस हजारी के बीच 8.5 किलोमीटर के रास्ते का उद्घाटन हुआ था। इन सालों में यह दिल्ली वासियों के जीने का तरीका बन गई है। आज यह 230 किलोमीटर से अधिक के दायरे में फैली है।

आज दिल्ली मेट्रो (Delhi Metro) सार्वजनिक परिवहन की रीढ़ बन चुकी है। इसके 3000 ट्रेन हर दिन 25 लाख लोगों को सवारी कराते हैं। दिल्ली मेट्रो ने न सिर्फ़ लोगों के ट्रैवल के तरीके में ही बल्कि उनके पब्लिक में व्यवहार करने के तरीके में भी बदलाव किया है। उत्कृष्टता, पेशेवराना अंदाज और समय की पाबंदी को लेकर इसने जो बेंचमार्क खड़ा किया है इस वजह से सरकारी संस्थानों को लेकर लोगों के नज़रिए में बदलाव देखने को मिला है। वह तारीफ काबिल है।

बहुत कम लोगों को याद होगा जब कश्मीरी गेट पर एक होर्डिंग लगी होती थी कि ‘दिल्ली मेट्रो जल्द आ रही है’। फ्लाईओवर निर्माण के दौरान जहां हर तरफ सड़कें उधड़ी नजर आती थीं और निर्माण में इस्तेमाल सामग्री बिखरी पड़ी रहती थीं, इसके उलट मेट्रो निर्माण के वक्त दिल्लीवासियों ने बैरिकेड के पीछे से हो रहे काम को देखा। ट्रैफिक को भी इस तरह मैनेज किया गया ताकि लोगों को कम से कम परेशानी हो ।

दिल्ली मेट्रो (Delhi Metro)  की शुरुआत में इसके पास इंजिनियरिंग से जुड़ी दिक्कतें थीं जब यमुना के ऊपर ब्रिज बनाना था और सुरंगें बनानी थीं। कुछ दुर्घटनाओं के अलावा दिल्ली मेट्रो का रेकॉर्ड इस लिहाज से अच्छा रहा है। दिल्ली मेट्रो ने 15 साल पूरे कर लिए हैं और अब अपने 5वें फेज की शुरुआत की दिशा में देख रही है। अब अगले पांच सालों में दिल्ली मेट्रो विश्व के सबसे लंबे मेट्रो नेटवर्क के बराबर होगी।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी  ने सोमवार २५ दिसम्बर को दिल्ली मेट्रो (Delhi Metro) की 12.64 किलोमीटर लंबी मजेंटा लाइन का उद्घाटन किया । यह लाइन नोएडा के बॉटनिकल गार्डन को दक्षिण दिल्ली के कालकाजी मंदिर स्टेशन से जोड़ती है। नई रूट का उद्घाटन करने के बाद पीएम मोदी मेट्रो ट्रेन में बैठकर ओखला बैराज मेट्रो स्टेशन तक गए थे  । दिल्ली मेट्रो (Delhi Metro) का यह पहला रूट होगा जिसपर आॅटोमैटिक आॅपरेट होने वाली मेट्रो ट्रेनें चलेंगी।

नोएडा के बॉटेनिकल गार्डन से दिल्ली के कालकाजी मंदिर मेट्रो स्टेशन की दूरी मजेंटा लाइन मेट्रो ट्रेन के जरिये महज 19 मिनट में तय की जा सकेगी। यहां से हरियाणा के फरीदाबाद की दूरी भी 14.64 किलोमीटर कम हो जाएगी। सोमवार शाम पांच बजे से जनता के लिए खोले जाने के बाद यह मेट्रो लाइन जहां समय की बचत करेगी, वहीं किराया भी घटाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.