Home Entertainment
Category

Entertainment

आखिर कौन है सपना ? दरअसल, हमने इंटरनेट पर बहुत रिसर्च किया है और जो कुछ भी जानकारी हम उनके बारे में इकट्ठा कर पाए हैं, वह आपके साथ साझा कर रहे हैं। यंहा पर हम यह बता दें कि इन तथ्यों की हम स्वतंत्र रूप से पुष्टि नहीं कर सकते। जी हाँ हम यंहा बात कर रहे हैं हरियाणा की महशूर डांसर सपना चौधरी की। हासिल जानकारी के मुताबिक सपना का जन्म एक मध्यवर्गीय परिवार में हुआ था।12 साल की उम्र में अपने पिता को खोने वाली सपना चौधरी ने ही अपने संघर्ष के दम पर अपने परिवार को पाला। हरियाणा के रोहतक में जन्मी सपना को उसके पहने गाने ने ही सुपरस्टार बना दिया था। गाने के बोल थे ‘सॉलिड बॉडी’।  उन्होंने अपनी शुरूआती शिक्षा रोहतक से की है। इसके बाद वह अपने गाने सॉलिड बॉडी से डांसर बन गईं और उन्होंने डांसिंग को हीं अपने करियर के रूप में चुन लिया। 26 साल की सपना अविवाहित हैं । सपना के साथ उनकी ब्वाईफ्रेंड की तस्वीर भी कई बार सोशल मीडिया पर आई है। रोहतक में हीं पैदा हुईं सपना को गाने सुनना और घूमना पसंद है।

हरियाणा में वह काफी फेमस है और लोग उनके एक झलक के लिए काफी उत्साहित रहते हैं। खास कर उनके डांस शो और ऑर्केस्ट्रा में तो लोगों का हुजूम-सा उमड़ पड़ता है। सपना सिंगर भी है ये बहुत अच्छा गाती भी हैं और उन्होंने कई गाने गाए भी हैं। सपना हरियाणवी फ़िल्मों में काम करना चाहती हैं।

इक गाने की बदौलत सपना कुछ ही दिनों में हरियाणा में ही नहीं बल्कि यूपी, राजस्थान, दिल्ली व पंजाब में भी फेमस हो गई. पिता के निधन के बाद माँ नीलम चौधरी और भाई-बहनों की ज़िम्मेदारी सपना के कंधों पर आ गई. सिंगिंग और डांसिंग को न सिर्फ़ अपना करियर बनाया बल्कि इसी के दम पर अपने पूरे परिवार को चलाया। सपना के पहले गाने ‘सॉलिड बॉडी रै’ ने उन्हें चंद दिनों में ही हरियाणा की फेमस स्टार बना दिया था।

हर उम्र के लोग उनके गानों पर पागलों की तरह झूमते हैं। सपना के गानों में शरारत भरा जो डांस होता है, उस पर लाखों युवा फिदा हैं। आज हरियाणा में ऐसा सीन है कि सपना अगर चालीस किलोमीटर दूर के गांव में आई हों, तो भी लोग बाइक, स्कूटर या रोडवेज से उस गांव पहुंच जाते हैं। अस्सी साल के बूढ़ों तक में सपना का क्रेज है। जब सपना को बुलाया जाता है, तो पंडाल में बैठने की जगह भी नहीं मिलती। सपना नाम एक ब्रैंड बन गया है। यूट्यूब पर सपना  चौधरी  के नाम से कुछ भी लिखो। लोग देखेंगे ही।

जहर खाकर एक बार खुदकुशी करने की कोशिश करने वाली मशहूर हरियाणवी सिंगर और डांसर सपना चौधरी शुरू से ही विवादों में रही हैं। हालांकि, सपना के रातोंरात स्टार बनने की कहानी स्वप्न सरीखी ही है।

सपना चौधरी इस समय देश में तेजी से उभरती हुई क्षेत्रीय डांसर हैं। शायद ही इतनी तेजी से देश की कोई और डांसर आगे बढ़ पायी होगी। सपना चौधरी को आये हुए कुछ ही साल हुए हैं, इतने में ही डांस की दुनिया में केवल उन्ही के नाम का सिक्का चलने लगा। जिसको देखो वही सपना के बारे में चर्चा करता दिखता है। लोग सपना के डांस के बारे में चर्चा करते सुने जाते हैं। मेट्रो में हों या बस में हर जगह जब लोग मोबाइल में वीडियो देख रहे होते हैं, तो अक्सर वह सपना का होता है। कई बार तो लोग सपना के डांस में इतना खो जाते हैं कि वह अपना स्टेशन तक भूल जाते हैं। आजकल हर जगह सपना के नाम की धूम मची हुई है। हालांकि सपना हरियाणा की रहने वाली हैं, लेकिन उनके डांस की मांग हरियाणा, दिल्ली, राजस्थान, उत्तर प्रदेश आदि राज्यों में भी खूब होती है।

हरियाणा की चर्चित सिंगर सपना चौधरी का (बम-बम भोले कावड़ियों पर सॉन्ग) कवड़ियों पर नया गाना बहुत सुर्खियां बटोर रहा है। आमतौर पर हॉट डांस के लिए चर्चा में रहने वाली सपना चौधरी का यह अंदाज भी उनके फैन्स खासा पसंद कर रहे हैं। अपने नए वीडियो में सपना चौधरी भक्ति भरे गाने पर डांस कर रही है। सपना के नए गाना हल ही में 17 जुलाई को यू-ट्यूब पर अपलोड किया गया था जिसे अब तक दो लाख बार देखा गया है।

हरियाणा की सुपरस्टार डांसर सपना चौधरी अब बॉलीवुड में भी दस्तक देने जा रही है सनी कपूर की फ़िल्म ‘एक्शन क्वीन मधुबाला’ में सपना ने एक आइटम सांग शूट किया इस गाने की शूटिंग मुंबई के एक स्टूडियो में की गयी जहाँ फ़िल्म की पूरी टीम मौजूद रही मीडिया से बातचीत दौरान सपना ने कहा कि वह इस फ़िल्म को लेकर बेहद एक्साइटेड हैं स्टेज पर परफॉर्म करना और फ़िल्म में आइटम सांग करना काफी अलग बातें है |

July 21, 2017 1 comment
4 Facebook Twitter Google + Pinterest

आशिकों ने तो आशिकी के लिए ताजमहल बना दिया, साला हम एक संडास ना बना सके’ — टॉयलेट एक प्रेम कथा

आईये  कुछ  बात करते हैं अक्षय कुमार और भूमि पेडनेकर की आने वाली फिल्‍म ‘टॉयलेट: एक प्रेम कथा एक आगामी हिन्दी फ़िल्म है जिसका निर्देशन श्री नारायण सिंह ने किया है। यह एक हास्य-व्यंग्य फिल्‍म है जो ग्रामीण इलाकों में  स्वछता के महत्‍व जैसे गंभीर मुद्दे पर प्रकाश डालती है। फिल्‍म की कहानी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के  स्वछ भारत अभियान से प्रेरित दिखाई देती है ।

अभिनेता अक्षय कुमार को उम्मीद है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ‘स्वच्छ भारत अभियान’ पर आधारित उनकी आगामी फिल्म ‘टॉइलेट-एक प्रेम कथा’ खुले में शौच की समस्या के बारे में दर्शकों को जरूर  जागरूक करेगी.  फिल्म खुले में शौच के बारे में बात करती है और अक्षय का मानना है कि भारत में यह सबसे बड़ी समस्याओं में एक है और इसे छिपाने की बजाए इस पर बात होनी ही  चाहिए ।

अक्षय ने यहां एक कार्यक्रम में संवाददाताओं से कहा, ‘यह मुद्दा है, जिस कारण मैं फिल्म :टॉइलेट-एक प्रेम कथा: के जरिए इसकी बात कर रहा हूं और हमें इससे क्यों भागना चाहिए. यह हमारी सबसे बड़ी समस्याओं में से एक है । भारत में डायरिया के कारण प्रतिवर्ष हजारो बच्चों की मौत हो जाती है ।

आपको बता दें कि यह फिल्म एक ओर तो प्रधानमंत्री के ‘स्वच्छ भारत’ अभियान को समर्थन करती है तो दूसरी ओर सफाई का ध्यान नहीं रखने वालों के लिए चुभते व्यंग्य के बीच दर्शकों को हास्य परोसती है ।

देखते है फिल्म की   छोटी सी  कहानी   बहुत ही  कम  शब्दों में  

अक्षय कुमार जो फिल्‍म में केशव का किरदार निभा रहे हैं. केशव केवल एक ही सपना देखता है, अपनी शादी का । उसके बाद उसकी मुलाकात होती है जया यानी भूमि पेडनेकर से और फिर दोनों को प्‍यार हो जाता है । एक ओर जहां केशव बेहद भोला शख्‍स है वहीं जया खुले विचारों वाली और आगे की सोच रखने वाली लड़की है l सब सही चल रहा होता है लेकिन केशव से शादी के बाद जैसे ही जया को पता चलता है कि उसे खुले में शौच जाना होगा तो सब बदल जाता है. उसके बाद वह केशव के साथ मिलकर लड़ाई लड़ती है । सभी तरह की परेशानियों से लड़ते हुए केशव और जया अपने परिवार की सोच में बदलाव लाने का प्रयास करते हैं और खुले में शौच और स्वछता के मुद्दे पर राजनीतिक लड़ाई भी लड़ते हैं ।

यंहा हम ये बता दें कि यह एक व्यंग्यात्मक मूवी है, जो कि भारत सरकार के ‘स्वच्छ भारत अभियान’ से प्रेरित  है। फिल्म में देशवासियों के लिए टॉयलेट के महत्व को बताया गया है। वायकॉम मोशन पिक्चर्स के बैनर तले बनी इस फिल्म के डायरेक्टर नारायण सिंह है। फिल्म में अक्षय कुमार और भूमि पेडनेकर के अलावा अनुपम खेर और सना खान भी हैं। यह 11 अगस्त को जन्मास्टमी के आसपास  रिलीज होगी।  हमारी शुभ कामनाएं  फिल्म के साथ है   फिल्म बेहतर प्रदर्शन भी करे तथा समाज को नई दिशा प्रदान करने में  मदद भी करे ।  

July 5, 2017 1 comment
3 Facebook Twitter Google + Pinterest

ईद के समय रिलीज हुई सलमान खान की फिल्म ट्यूबलाइट स्क्रिप्ट और कहानी के लिहाज से क्रिटिक्स की बुराइयां झेल रही है। हालांकि बावजूद इसके फिल्म का अब तक का कुल कलेक्शन 64 करोड़ 77 लाख रुपए पहुंच गया है। कहानी की बात करें तो कबीर खान की इस फिल्म की बात करें तो इसमें उनके किरदार का नाम लक्ष्मण सिंह बिष्ट है। जिसे पड़ोस के बच्चे ट्यूबलाइट कहकर बुलाते हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि उसे देर से चीजें समझ आती है। जैसे ट्यूबलाइट जलने में टाइम लगाती है। लेकिन एक बार जलने के बाद वो रौशन रहती है। ईद पर रिलीज होने वाली ज्यादातर फिल्मों के साथ एक दिलचस्प तथ्य यह भी रहा है कि ईद पर रिलीज होने वाली तकरीबन सभी फिल्में हिट साबित हुई हैं। ट्यूबलाइट को छोड़कर ।

बात अगर डायरेक्शन की करें, तो कबीर खान की फिल्म पर कतई पकड़ नजर नहीं आती। एक अच्छी कहानी पर बनी फिल्म प्लॉट की गड़बड़ी के चलते दर्शकों को निराश करती है। खुद पर यकीन करने के फंडे के चलते कबीर ने फिल्म में सलमान से तमाम अटपटी चीजें कराई हैं। फिल्म का फर्स्ट हाफ कमजोर है, तो सेकंड हाफ में चीजें और भी खराब हो जाती हैं। कईं सीन तो बेहद अटपटे हैं। मसलन किसी सीन में सलमान शर्ट-पैंट-स्वेटर और जूते पहनकर नदी में छलांग लगाते नजर आते हैं वहीं एक दूसरे किसी सीन में सोहेल खान को गोली लग जाती है, तो वह अपने साथी को उसके फटे हुए जूतों की बजाय अपने जूते पहनने को कहता है। उसका साथी सोहेल के जूते पहनता है, इतने में उसे भी गोली लग जाती है, लेकिन जब भारतीय सेना के सिपाही उनके पास पहुंचते हैं, तो वहां उन्हें दोनों के पैरों में जूते नजर आते हैं।

सलमान खान के प्रंशक उन्हें दबंग अंदाज वाले रोल्स में देखना पसंद करते हैं, लेकिन इस फिल्म में वह एक निरीह आदमी के रोल में नजर आते हैं, जो कि पूरी फिल्म में दूसरों के सामने रोता-गिड़गिड़ाता ही रहता है। सलमान जितनी बार इमोशनल सीन करते हैं, उतनी बार फैंस हंसते नजर आते हैं। खासकर सेना की भर्ती वाले सीन में और पूरी फिल्म के दौरान अपनी जिप बंद करने के दौरान सलमान फैंस का खूब मनोरंजन करते हैं वहीं रोने के सींस में कई बार सलमान ओवर ऐक्टिंग करते नजर आते हैं।

यह फिल्‍म वैसी नहीं है जिसमें आपको अपने दोस्‍तों के साथ सिनेमाघरों में जाकर तालियां बजाने और नाचने का मौका मिलेगा | यह एक भावनात्‍मक फिल्‍म है. एक पत्‍थर दिल इंसान के भी इस फिल्‍म में आंसू आ सकते हैं | तो यह एक ऐसी भावनात्‍मक फिल्‍म है जिसमें आप अपने माता-पिता और दादा-दादी के साथ जाएंगे |

कहने का तात्पर्य  यह है की यह ट्यूबलाइट नाम के अनुरूप शुरू से अंत तक लपक-झपक करती है। आप कहते रहते हैं, जल जा… जल जा… जल जा… परंतु वह पूरी तरह रोशन नहीं होती। वैसे भी एल. इ. डी. का जमाना  है  ट्यूब लाइट से बात बनती नहीं ।

हम इस फिल्म को पांच में से दो रेटिंग देते है | हम पाठको को भी निराश नहीं करेंगे नीचे कमेंट्स बॉक्स है , शुरू हो जाइये यदि आपने गलती से फिल्म देख ली हो तो आप अपनी रेटिंग तथा इस इस फिल्म को देखने के अपने अनुभव को सभी से शेयर करने के लिए |

June 27, 2017 0 comment
1 Facebook Twitter Google + Pinterest

फिल्म के  ट्रेलर की शुरुआत, ‘अब इस देश में गांधी के मायने बदल चुके हैं‘ डायलॉग के साथ होती है और इसके बाद आपात काल दिखाया गया है।निर्माता निर्देशक मधुर भंडरकार की अगली फ़िल्म इंदु सरकार 28 जुलाई को होगी रिलीज इस फिल्म की कहानी 1975 से 1977 के बीच के उन 21 महीनों की है जब इंदिरा गांधी ने देश में इमरजेंसी लगा दी थी |  फिल्म में कीर्ति कुल्हारी और नील नितिन मुकेश ने लीड रोल किया है।  फिल्म के पोस्टर में कीर्ति कुल्हारी को दिखाया गया है, जो काफी इंटेंस लुक देती नजर आई हैं। फिल्म में बप्पी बप्पी लाहिरी और अनु मलिक ने पहली बार साथ मिलकर म्यूजिक दिया है।  कीर्ति कुल्हारी एक दमदार किरदार में नजर आ रही हैं। इस फिल्म में कीर्ति हकलाती हुई दिखाई गई हैं।

इंदु सरकार’ एक ऐसी महिला की कहानी है जो इमरजेंसी के दौरान सत्ता के खिलाफ अकेली  खड़ी होती है। इस महिला का किरदार फिल्म में  कीर्ति कुल्हारी ने निभाया है। संजय गांधी के रोल में नील नितिन मुकेश की एक्टिंग भी काफी शानदार लग रही है। फिल्म में नील नितिन मुकेश को हू-ब-हू संजय गांधी का लुक दिया गया है, यहां तक कि उन्हें पहचानना भी मुश्किल हो रहा है। कीर्ति आखिरी बार फिल्म पिंक में नजर आई थीं और इस फिल्म में उनके रोल की काफी तारीफ की गई थी। ‘इंदु सरकार’ के ट्रेलर को देखकर भी आप कीर्ति की एक्टिंग तथा लुक की तारीफ किए बिना रह नहीं पाएंगे।

 फिल्म में सुप्रिया विनोद पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के रोल में नजर आएंगी। अनुपम खेर की भी फिल्म में जोरदार एक्टिंग देखने को मिलेगी। एक बार फिर बता दें कि यह फिल्म 1975 से 1977 के बीच के उन 21 महीनों की कहानी है जब इंदिरा गांधी प्रधानमंत्री थीं और उन्होंने देश में इमरजेंसी की घोषणा कर दी थी। इस फिल्म में बप्पी लहरी और अनु मलिक पहली बार साथ मिलकर म्यूजिक दे रहे हैं।

सन 1975 में लगे राजनीतिक आपात काल के दिनों को इस फिल्म में बखूबी रिक्रिएट किया गया है।

भरत शाह फिल्म के प्रस्तुतकर्ता हैं। फिल्म में पुराने दौर की कव्वाली चढ़ता सूरज धीरे धीरे ढलता है ढल जायेगा  … को भी नए अंदाज में पेश किया गया है। फिल्म में तोता रॉय चौधरी और अनुपम खेर भी महत्वपूर्ण भूमिकाओं में हैं।

फिल्म ‘इंदु सरकार’ पर हो रहे बवाल पर डायरेक्टर मधुर भंडारकर ने कहा था  कि इससे बड़ा मजाक नहीं हो सकता कि इस तरह की बात हो रही है कि मैंने पैसे लेकर फिल्म बनाई है. मैं कल का फिल्ममेकर नहीं कि अचानक फिल्म बना रहा हूं. मैं रियल ईशु पर फिल्म बनाता हूं. राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता फिल्मकार मधुर भंडारकर का मानना है कि युवा पीढ़ी को 1970 के दशक में 21 महीनों तक चले उथल-पुथल भरे माहौल के बारे में जानकारी होनी चाहिए। भंडारकर ने मीडिया से कहा,  की “आपातकाल एक ऐसा विषय है, जिसके बारे में आज की पीढ़ी नहीं जानती है और उन्हें इस बारे में पता होना चाहिए। आज की पीढ़ी को पता होना चाहिए कि वास्तव में उस समय क्या हुआ था, किस तरह से चीजों को दबा दिया गया और नागरिक अधिकारों का हनन किया गया। इस कहानी को आज की पीढ़ी को बताना चाहिए।”

यह सच है की आपातकाल  किसी राजनिक दल विशेष के इतिहास का कला पन्ना साबित हुवा l  लेकिन हम यंहा पर आपातकाल पर बनी  इस  इंदु सरकार फिल्म की बात कर रहे है  l  देखना है की यह फिल्म बॉक्स ऑफिस पर क्या धूम मचातीं है l

June 23, 2017 0 comment
1 Facebook Twitter Google + Pinterest

हाल ही में रिलीज हुई फिल्म ‘सरकार 3’ के बाद डायरेक्टर राम गोपाल वर्मा ने अपनी शॉर्ट फिल्म ‘मेरी बेटी सन्नी लियोनी बनना चाहती है’ रिलीज की।

इस शॉर्ट फिल्म में निर्माता रामगोपाल वर्मा एक ऐसी लड़की के बारे में बताते है, जो एक पोर्न स्टार बनना चाहती है, लेकिन उसके माता-पिता से एक मजबूत विरोध का सामना करना पड़ता है। माता-पिता और बेटी के बीच लिविंग रूम की बातचीत सनी लियोन को पार करती है और व्यक्तिगत विकल्पों, दमन और आजादी के विषयों की खोज करती है। यह अनिवार्य रूप से एक व्यक्ति को अपने या अपने तरीके से जीवन जीने की पसंद का सम्मान करने के बारे में है। लेकिन यहा  निर्माता ने यह नहीं दर्शाया की उक्त लड़की सन्नी लिओन  बनने का प्रयास करती है , और वह यहाँ तक नहीं पहुँच पाए तो उसका परिणाम क्या होगा |

 नाटक और फिल्मे समाज को नई दिशा दिखने के लिए होती है ना की समाज को दिग्भर्मित करने के लिए  l  उक्त शार्ट फिल्म में निर्माता समाज को क्या सन्देश देना चाहता है , समझ से परे है , लेकिन इसमें दर्शाये गए संवाद भारतीय संस्कृति के विपरीत है |  जैसे  ( 1 संवाद )

यदि आप एक असिस्टेंट मैनेजर हो सकते हैं, तो मैं एक पॉर्नस्टार क्यों नहीं हो सकती ? उसका काम लाखों लोगों को लुभाने वाली खुशी प्रदान करना है।

जब एक नाराज पिता अपनी बेटी को पूछता है कि वह अपने शरीर को क्यों  बेचना चाहती है, तो बेटी की सोच देखिए , (2 संवाद ) ‘इस दुनिया में हर कोई कुछ बेच रहा है। कुछ अपनी कला बेचते हैं, दूसरों को अपनी कड़ी मेहनत बेचते हैं सनी लियोन सेक्स अपील बेचती है जीवन के लिए एक सरल नियम है: यदि आप कुछ कमाना चाहते हैं, तो आपको कुछ बेचना पड़ेगा ।

मेरी बेटी सन्नी लिओन बनना चाहती है

यूट्यूब पर अवेलेबल है  यह फिल्म देख चुके कई लोगों ने इसे शर्मसार करने वाला भी बताया है।समाज को असहज करने वाले कई सवाल उठाती है।  फिल्म में पॉर्नस्टार बनने की चाहत रखने वाली लड़की को जब माता-पिता के विरोध का सामना करना पड़ता है, तो वह सनी लियोनी का उदाहरण देती है और अपने पैरंट्स के तमाम सवालों के जवाब भी देती है।

फिल्म में बंद कमरे के अंदर माता-पिता और उसकी बेटी के बीच की बातचीत को दिखाया गया है। रामगोपाल वर्मा का नाम सनी लियोनी के साथ इससे पहले तब जुड़ा था जब उन्होंने सोशल मीडिया पर सनी के नाम के साथ एक ट्वीट किया था।राम गोपाल वर्मा ने जो की इस फिल्म का निर्माता है  महिला दिवस के मौके पर ट्वीट किया था कि वह चाहते हैं कि सभी महिलाएं अपने पतियों को उसी प्रकार सुख दें जैसे सनी लियोनी दे रही हैं।  और इसी  ट्वीट के कारण राम गोपाल वर्मा  को टिव्टर से भागना पड़ा  था । भारतीय समाज को , युवा वर्ग को पता नहीं अब इस फिल्म के द्वारा क्या सन्देश देना चाहते है , राम गोपाल वर्मा ये तो इस फिल्म के निर्माता ही जनते हैं ।

हमारा इस लेख से कोई व्यक्तिगत रूप से किसी भी प्रकार का कोई लेना देना नहीं है । यहा हम निर्माता की विचारधारा या सोच को बताने का प्रयास कर रहे है । यदि आप हमारे लेख से सहमत हो तो हमसे अपने विचारो को साझा करे |

June 20, 2017 0 comment
6 Facebook Twitter Google + Pinterest

TubeLight Movie

यकीन एक ट्यूबलाइट की तरह होता है,देर से जलता है लेकिन जब जलता है तो फुल लाइट कर देता है।  ये डायलॉग है सलमान खान की आने वाली फिल्म ट्यूबलाइट के निर्देशक कबीर खान हैं, जो तीसरी बार सलमान के साथ काम कर रहे हैं | आइये जानते हैं फिल्म की संक्षेप में कहानी तथा  फिल्म से संबंधित कुछ रोचक तथ्य सलमान खान  के साथ इस फिल्म में उनके भाई सोहेल खान और दिवंगत अभिनेता ओमपुरी भी अहम भूमिका में नजर आएँगे।

‘ट्यूबलाइट’ दो भाईयों की कहानी हैं, जिनके माता-पिता बचपन में गुजर जातें हैं,ओमपुरी  फिल्म में बच्चों का एक आश्रम चलाते हैं ओमपूरी के  उसी आश्रम में दोनों भाई रहते हैं और बड़े होते हैं। वे फिल्म  में  दोनों भाइयों की देखभाल करते हैं । फिल्म की पृष्ठभूमि 1962 के आस-पास चाइना वार पर आधारित है। आप यह भी कह सकते हैं कि ‘ट्यूबलाइट’ थोड़ी सी पीरियड फिल्म है। आप इसे दो भाइयों की लव स्टोरी भी कह सकते हैं जिसमें सलमान खान का किरदार थोड़ा मेंटली चैलेंज है और दूसरा भाई यानी सोहेल खान फौज में हैं। जो एक लड़ाई के बाद लापता हो जाता हैं बाद में सलमान उनकी तलाश करते हैं। भाई को तलाश करते हुए फिल्म की कहानी दिलचस्प डायलॉग और सीन के साथ आगे बढ़ती है।’ फिल्म में दो भाइयों के प्यार की भी कहानी है।  सलमान खान ने एक भारतीय व्यक्ति की भूमिका निभाई है, जिसे चीन की एक लड़की से प्यार हो जाता है. यह कन्नड़ फिल्म ‘ट्यूबलाइट’ का रीमेक है. इस फिल्म की शूटिग  की पहली शिड्यूल की शूटिंग जुलाई 2016 में लद्धाख में हुई | जबकि शूटिंग अगस्त समाप्त हुई, फिल्म में प्रीतम ने म्यूजिक दिये है | फिल्म के मुख्य कलाकारों में  सलमान खान, सोहेल खान, मोहम्मद जीशान अयूब, पारस अरोड़, शत्रुघ्न सिन्हा | जब   दो भाई भाइयों की बात थी तो सलमान के साथ सोहेल की केमेस्ट्री को भाई में बदलने में कोई मेहनत किसी को भी नहीं करनी पड़ी  32 वर्षीय गॉर्जियस चाइनीज एक्ट्रेस जू जू सलमान खान की फिल्म ट्यूबलाइट की हीरोइन हैं  |

हालाकि एक समय यह खबरें भी आई थी सलमान खान और निर्देशक कबीर खान के बीच अनबन हो गई हैं | खबर थी की  सलमान फिल्म के क्लाइमेक्स को रीशूट कराना चाहते थे,लेकिन कबीर इसके लिए राजी नहीं थे | उस समय लग रहा था शायद  दोनों के बीच अनबन और बढ़ गई थी जिसका सीधा असर फिल्म पर पड़ सकता था |

खैर जो भी हो हमें इस समय जबकि फिल्म के रिलीज की तारीख नज़दीक आ रही है इन सारी बातों का कोई मतलब नहीं रह गया है |

कहा जाता है की इस फिल्म में सलमान का किरदार ऐसा है जो उन्होंने अब तक अपने पूरे करियर में नहीं किया है। यह किरदार बेहद-बेहद चैलेंजिंग कैरेक्टर है। सलमान ने इस बार ऐक्टिंग की सभी सीमाओं को तोड़कर मेहनत की है। ये बातें मीडिआ के माध्यम से दर्शकों को लुभाने वाली भी हो सकती हैं | किंतु फिल्म के रिलीज होने के दिन असलियत सामने आ ही जाएगी |

23  जून 2017  को यह फिल्म रिलीज हो रही है | अब हमें देखना यह है  की फिल्म बॉक्स ऑफ़िस पर क्या गुल खिलाती है | हमारी शुभ कामनाएं  फिल्म के साथ है की ट्यूबलाइट बॉक्स ऑफ़िस पर अच्छा प्रदर्शन करे |

June 14, 2017 0 comment
6 Facebook Twitter Google + Pinterest

कौन बनेगा करोड़पति (संक्षेप में  केबीसी) भारत का जाना माना एक रियालिटी/गेम शो है। इसमें कोई व्यक्ति अधिकतम निर्धारित 1,2,3,4,5,6,7, करोड़ रूपये जीत सकता है। इसका पहला प्रसारण सन् 2000 में आया था। भारत के फिल्मोद्योग के महानायक अमिताभ बच्चन इसके सूत्रधार (होस्ट) हैं। अमिताभ बच्चन का दूरदर्शन पर पदार्पण इसी को लेकर हुआ। यह अत्यन्त लोकप्रिय कार्यक्रम है। सन 2000 में शुरू हुआ यह टीवी शो अमिताभ बच्‍चन के बेहद अनोखे अंदाज और उनकी होस्‍टिंग के चलते यह शो सुपरहिट साबित हुआ था | अमिताभ बच्‍चन अभी तक इस शो के 8 में से 7 सीजन होस्‍ट कर चुके हैं, जबकि सीजन 3 में शाहरुख खान ने यह होस्‍ट किया था | मीडिया में उड़ी उन अफवाहों पर रणबीर कपूर न रोक लगा दी है, जिनके अनुसार टीवी शो ‘कौन बनेगा करोड़पति’ के अगले सीजन में अमिताभ बच्‍चन की जगह रणबीर कपूर नजर आएंगे | रणबीर कपूर ने एक टी. वी. चैनल से बात करते हुए इन सभी अफवाहों को सिरे से खारिज कर दिया है| सभी अफवाहों पर विराम लगाते हुए  लगभग तय हो गया  कि इस बार भी ‘कौन बनेगा करोड़ पति’  सदी के महानयक अमिताभ बच्चन ही होस्ट करेंगे|

कुछ दिनों पहले तक ये अफवाह थी कि ‘कौन बनेगा करोड़पति’ के मेकर्स इस बार शो में महिला होस्ट को लाने पर विचार कर रहे हैं.यहां तक कि ये खबरें भी आयीं थी  कि ऐश्वर्या और माधुरी में से कोई एक ‘कौन बनेगा करोड़ पति सीजन 9’ को होस्ट करती हुईं दिखाई दे सकती हैं. लेकिन अब बिग बी ने खुद कन्फर्म कर दिया है कि इस फेमस गेम शो को होस्ट बिग बी  ही करने जा रहे हैं|

यंहा आपको  यह बता दें कि ‘कौन बनेगा करोड़पति‍’ 2000 में शुरू किया गया था. शो इतना हिट रहा कि नए सीजन के साथ इसे लॉन्च किया जाने लगा. हालांकि शो कुछ ज्यादा ही लंबे गैप के बाद आता है, लेकिन ऑडियंस इसका बेसब्री से इंतजार करती है. इस बार भी शो नए रूप-रंग के साथ पेश किया जाएगा .सिर्फ सेट और प्रस्तुति – करण में मामूली बदलाव देखने को मिल सकते हैं | पिछली बार इनामी रकम पांच करोड़ रुपये थी | इस बार इस रकम में बढ़ोतरी हो सकती है|

इतना जरूर है की प्रत्येक शो अपने आप में एक नयापन लिए होता है | मतलब साफ है की आने वाला शो भी  कुछ  नयापन लिए होगा | अभी सीजन 9  के लिए पंजीयन शुरू नहीं हुवा है  | 17 जून 2017 शाम 9 बजे से  K. B. C. -9  के लिए पंजीयकरण शुरू होगा | आने वाले समय मे पंजीयकरण की लिंक लेकर तथा के.बी.सी. की  बहुत सी नई जानकारियों को अपने अगले ब्लॉग में लेकर जरूर आएंगे | जिस की मद्दद से हम आपको पंजीकरण से लेकर हॉट सीट पर पहुँचने तक की समस्त जानकारी प्रदान करेंगे l

लीजिए दोस्तों आपके इंतजार की घडी समाप्त हुई । इस सदी के महानायक अमिताभ बच्चन एक बार फिर छोटे पर्दे पर फेमस शो ‘कौन बनेगा करोड़पति’ का अगला सीजन लेकर लौट रहे हैं। इसका नौवां सीजन जल्द ही दर्शकों को टीवी पर दखाई देगा। अभी हाल ही में शो का पहला प्रोमो अमिताभ बच्चन ने ट्विटर पर रिलीज किया। प्रोमो की शुरुआत नाचने-गाने और ढोल-नगाड़ों के साथ शुरू होता है और फिर  अमिताभ बच्चन कहते हैं, ‘शुरू हो जाइए, 17 जून को शुरू होंगे मेरे सवाल और आपके केबीसी रजिस्ट्रेशन।

जानिये अब तक बने करोड़पतियो को

सुशील कुमार (मोतिहारी बिहार : ५ करोड़
रहत तस्लीम (झारखण्ड से): १ करोड़
अनिल कुमार सिन्हा (बिहार से): १ करोड़
मनोज कुमार रैना (कश्मीर से): १ करोड़
सिमनीत कौर (मुंबई से): ५ करोड़
नारूला बंधु (दिल्ली से): ७ करोड़

तब तक पढ़ते रहिए  हमारे नई जानकारियों  और मनोरंजन से भरपूर आलेख प्रतिदिन,  नई जानकारियों  और मनोरंजन से भरपूर आलेख प्रतिदिन |

June 12, 2017 0 comment
2 Facebook Twitter Google + Pinterest

सिंहल द्वीप के राजा गंधर्व सेन और रानी चंपावती की बेटी पद्मावती चित्तौड़ के राजा रतनसिंह के साथ ब्याही गई थी इसिलए चित्तोड़ की रानी हुई थी l रानी पदमावती, रानी पदमिनी के नाम  से भी जानी जाती हैं  

रानी पदमावती, चित्तौड़ की रानी थी। रानी पदमावतीके साहस और बलिदान की गौरवगाथा युगो से  इतिहास में अमर है और अमर रहेगी ।  रानी पदमावतीबहुत खूबसूरत थी और उनकी खूबसूरती पर एक दिन दिल्ली के सुल्तान अलाउद्दीन खिलजी की बुरी नजर पड़ गई।यंहा पीठ में छुरा भांपने वाली कहावत चरितार्थ है । रानी पदमावती को पाने के लालसा में सुल्तान अलाउद्दीन खिलजी राजा रावल रतन सिंह के राज्य में मेहमान के तौर पर गए। वहां उसने दिव्य सुंदरी रानी पदमावती को देखने का निवेदन किया पर रानी ने इसको पूरी तरीके से नकार दिया क्योंकि उनकी संप्रदाय का आधार पर पति को छोड़ कर किसी भी अन्य पुरुष को मुहँ दिखाना नियम के विरुद्ध था।

तब राजा रावल रतन सिंह ने रानी पद्मावती से निवेदन किया और समझाया की दिल्ली के सुल्तान अलाउद्दीन खिलजी के शक्ति और पराक्रम के विषय में बताया और समझाया की उनकी बात को मना करना सही नहीं होगा।

बहुत समझाने के बाद रानी मान तो गयी पर उनकी एक शर्त थी की उनके चहरे को सुल्तान आईने में देखेंगे ना की सीधे और वो भी 100 दसियों और राजा रावल रतन सिंह के सामने। अल्लुद्दीन खिलजी उनकी बात मान जाते हैं।

अलाउद्दीन किसी भी कीमत पर रानी पदमावती को हासिल करना चाहता था, इसलिए उसने चित्तौड़ पर हमला कर दिया। रानी पदमावती ने आग में कूदकर जान दे दी,  ( जौहर किया ) लेकिन अपनी और अपने कुल की आन-बान पर आँच नहीं आने दी। ईस्वी सन् १३०३ में चित्तौड़ को  लूटने वाला अलाउद्दीन खिलजी था जो राजसी सुंदरी रानी पदमावती को पाने के लिए लालयित था। मुख्या कारण यह है कि उसने दर्पण में रानी का प्रतिबिंब देखा था और उसके सम्मोहित करने वाले सौंदर्य को देखकर अभिभूत हो गया था। लेकिन कुलीन रानी ने लज्जा को बचाने के लिए जौहर करना बेहतर समझा।

ये था रानी पदमावती का इतिहास । अब हम आते है संजय लीला बंसाली दवारा निर्मित फिल्म  ” पदमावती ”  की कहानी पर ।  अक्टूबर २०१६ में यह घोषित हुआ कि भंसाली, वायकॉम 18 मोशन पिक्चर्स के साथ मिलकर फ़िल्म का निर्माण करेंगे जिसमें शाहिद कपूर, रणवीर सिंह और दीपिका पादुकोण मुख्य भूमिका निभाएंगे।

इस फ़िल्म में चित्तौड़ की प्रसिद्द राजपूत रानी पदमावती का वर्णन किया गया है जो रावल रतन सिंह की पत्नी थीं। यह फ़िल्म दिल्ली सल्तनत के तुर्की शासक अलाउद्दीन खिलजी का १३०३ ई. में चित्तौड़गढ़ के दुर्ग पर आक्रमण को भी दर्शाती है। पद्मावत के अनुसार, चित्तौड़ पर अलाउद्दीन के आक्रमण का कारण रानी के अनुपन सौन्दर्य के प्रति उसका आकर्षण था। अन्ततः 28 जनवरी 1303 ई. को सुल्तान चित्तौड़ के क़िले पर अधिकार करने में सफल हुआ। राणा रतन सिंह युद्ध में शहीद हुये और उनकी पत्नी रानी पदमावती ने अन्य विरंगानाओं के साथ आत्म-सम्मान और गौरव को मृत्यु से ऊपर रखते हुए जौहर कर लिया।

फिल्म पदमावती की शूटिंग के लिए राजस्थान के राजा-रजवाड़ों के महल को चुना गया है। हाल ही में दीपिका पादुकोण ने ‘घूमर’ सॉन्ग की शूटिंग पूरी की। इस गाने के लिए सेट पर काफी पैसा खर्च किया गया है। साथ ही दीपिका इसमें 400 दीयों के बीच नाचते नजर आएँगी।दीपिका ने इस गाने के लिए करीब डेढ़ महीन तक प्रैक्टिस की है। ये पदमावती का पहला गाना है और इसमें संजय लीला भंसाली कोई कसर नहीं छोड़ना चाहते। इस  फिल्म में शाहिद कपूर राजा रत्न सिंह का किरदार निभा रहे हैं। वहीं रणवीर सिंह अलाउद्दीन खिलजी के रोल में हैं।

आरम्भ में फिल्म की कहानी से उपजे विवाद के कारण , शायद अब  फिल्म को किसी  भी  प्रकार के प्रमोशन की जरुरत नहीं होगी , वैसे ही फिल्म का बहुत प्र्चार हो गया

वर्तमान में  घोषित तारीख को माने तो यह फिल्म  १७ नवंबर  २०१७ को रिलीज हो जाएगी l देखना ये है की २०० करोड़ के बजट से बनने वाली यह फिल्म बॉक्स ऑफिस  पर क्या रिकार्ड बनातीं है । बहरहाल हमारी शुभ कामनाऍ  है की ये फिल्म बॉक्स ऑफिस कलेक्शन के सारे रिकार्ड तोड़कर एक सफल फिल्म की सूची में दर्ज  हो   l

 

अतुल महाजन

June 8, 2017 2 comments
4 Facebook Twitter Google + Pinterest

Kaala, a Tamil film is going to release soon beneath direction of Pa Ranjith. He and Rajinikanth conjointly makes the movie after their last movie Kabali. Dhanush, Rajnikanth’s in-law is producing Kaala Karikaalan in his banner, Wunderbar Studios.

He released the movie 3 posters of the movie in his Twitter handle. First one has Kaala, written in red-pink color on black background. The second has Rajni sir in it. It’s assumed that the story is link with Dr. BR Ambedkar who died in 1956. Third and latest released poster also specify the rumor as Rajni sir, sitting on the deck a jeep of name plate BR 1956.

The movie stars superstar Rajnikanth, Huma Qureshi, Nana Patekar, Samuthirakani, Anjali Patil and Mammotty.  Mammotty is also playing a  anaglyph role as Dr. Ambedkar, a social reformer.

The movie categorise in drama genre where ever Ranjikanth plays the role of Karikaalan, a slum dweller of Mumbai. Plot line states escape of Karikaalan from Tirunelveli and settled himself as a gangster from the slums of Dharavi in Mumbai. The movie has been in shooting mode in Mumbai for forty days.

Another update from media, K Rajasekaran, assistant director, has filed a complaint in Chennai against makers of the movie,  allegedly taking his future film project and releasing it with name Kaala Kalikaalan. He claimed that he drafted the story “Karikaalaan” and production started in 2011 however owing to legal problems, production of the film dropped off. He wants appropriate action against the makers.

Up-to-date, there’s no sign of response from the producers back to Chennai police. Kaala shoots are in progress in Mumbai and can further move to Chennai for next schedule.

Music is given by Santhosh Narayanan.

Gangster drama film of Rajnikanth set to release in 2018.

June 6, 2017 0 comment
3 Facebook Twitter Google + Pinterest
Loading...