Home Entertainment
Category

Entertainment

THE TRAILER OF THE SECOND FRANCHISE OF STUDENT OF THE YEAR 2 RELEASED ON 10 MAY 2019 STARRING ANANYA PANDAY, TIGER SHROFF, TARA SUTARIA WITH ANNOUNCEMENT OF A POSTER TEASING HIGH SCHOOL BATTLE OF SOME KIND OF SORT.

THIS FILM IS A SEQUEL TO 2012 SUCCESS FILM STUDENT OF THE YEAR PRODUCED BY KARAN JOHAR STARRING SIDDHARTH MALHOTRA, ALIA BHATT, VARUN DHAWAN. THIS FILM IS KIND OF INDIAN ROMANTIC DRAMA DANCE DIRECTED BY PUNIT MALHOTRA. STUDENT OF THE YEAR 2 HAS REMIX VERSION OF SONG FROM MOVIE YEH JAWANI HAI DEEWANI IN THE FILM.

THIS MOVIE CROSSED THE EARNING OF 52 CRORE IN JUST 6 DAYS FROM ITS RELEASE AT BOX OFFICE. IT IS ALSO REVIEWED THAT STUDENT OF THE YEAR 2 IS MORE STABLE ON WEEK DAYS, IN TOTAL THE FILM IS UNDERWHELMING. ITS SINGLE DAY HIGHEST SCORE WAS NOT MORE THEN 13 CRORE. AS THE FILM HAS A DECENT WEEKEND, BUT AS COMPARED TO TIGER SHROFF EARLIER RELEASES, THE NUMBER WAS EXPECTED TO BE MUCH HIGHER THEN HIS PREVIOUS MOVIE BAAGHI WHICH HAVE THE BOX OFFICE COLLECTION OF 38 CRORES.

ACCORDING TO THE PAST RECORDS IT HAS BEEN VIEW THAT THIS THE FIRST TIME ALIA AND TIGER SHARING THE SCREEN SPACE TOGETHER. ALSO THERE IS A SPECIAL APPEARANCE OF SIDDHARTH AND VARUN IN THE FILM. SINCE THE ANNOUNCEMENT OF KARAN JHOR FILM STUDENT OF THE YEAR 2 WAS MADE, THE AUDIENCE EAGERLY WAITED FOR THIS UPCOMING FILM.

MOVIE OFFERS VALID TO GRAB THE TICKET OF STUDENT OF THE YEAR 2.

  • BOOKMYSHOW OFFERS –
  • BUY 1 GET 1 FREE TICKET ON PAYMENT WITH ICICI DEBIT CARD.
  • GET INR 100 ON BOOKING OF 2 MOVIE TICKET WITH PLATINUM AND GSCB CLASSIC CARDS.
  • GET RS 75/- OFF ON YOUR FIRST & SECOND TRANSACTION MADE THROUGH RuPay CARD.
  • GET FLAT RS 150/- OFF ON YOUR 1ST TRANSACTION WITH BANK OF BARODA MASTER DEBIT CARD.
  • GET 50% CASHBACK UPTO RS 150/- WITH PAYZAPP WALLET.
  • PAY USING PayPal AND 50% CASHBACK UPTO RS 300/- ON YOUR ELIGIBLE PURCHASES.

STAY TUNED WITH OFFER COUPONS AND GREAT DEALS TO BOOK STUDENT OF THE YEAR 2 MOVIE TICKETS, TRAILER AND MORE UPDATES.

May 17, 2019 1 comment
0 Facebook Twitter Google + Pinterest

अमेरिकी सुपरहीरो की हिट फ़िल्म है, जो मार्वेल कॉमिक्स की सुपरहीरो टीम, अवेंजर्स पर आधारित है। इसका निर्माण मार्वल स्टूडियो ने किया है, इस मूवी की कहानी क्रिस्टोफर मार्कस और स्टीफन मैकफ़ेली ने लिखी है, और यह फिल्म एंथनी तथा जो रूसो द्वारा निर्देशित की गई है।

इस मूवी के कलाकार इस प्रकार है :-

रॉबर्ट डॉनी जुनियर – टोनी स्टार्क/आयरन मैन
एक स्वयं घोषित विद्वान, रइस, रोमियो और इंजिनियर जिसने खुद एक यांत्रिक सूट बनाया है। डॉनी को अपनी चार फ़िल्मों के समझौते के चलते इस फ़िल्म में लिया गया था जिनमे आयरन मैन २ और द अवेंजर्स शामिल है।
क्रिस इवांस – स्टीव रॉजर्स/कैप्टन अमेरिका
एक द्वितीय विश्वयुद्ध का सेनानी जिसे मानवता की शारीरिक चोटी पर प्रयोगात्मक द्रव्य से पहुँचाया गया था। कैप्टन अमेरिका और टोनी स्टार्क में लगातार मतभेद उत्पन्न होते रहते हैं क्योंकि दोनों ही अलग-अलग काल के है।
मार्क रफ़्लो – डॉ॰ ब्रुस बैनर/हल्क
एक विद्वान वैज्ञानिक जो गामा किरणों के प्रभाव में आने के चलते गुस्सा होने पर एक दानव में बदल जाता है। हल्क का अभिनय करने के लिए अवतार में उपयोग की गई तकनीक का प्रयोग किया गया है। लोउ फेरिग्नो ने हल्क को आवाज़ दी है।
क्रिस हैमस्वर्थ – थॉर
नॉर्स मृथक में वर्णित बिजली का देवता। अपने इस पात्र के लिए क्रिस हेम्स्वर्थ ने वज़न व शारीरक बल बढ़ाया था।
स्कार्लेट जोहानसन – नताशा रोमानोफ़/ब्लैक विडो
जेरेमी रेनर – क्लिंट बर्टन/हॉकाआय
सैम्युअल एल. जैक्सन – निक फ्यूरी
टॉम हिडल्स्टन – लोकी
कोबी स्मल्डर्स – मारिया हिल
स्टेलान स्कार्सगार्ड – डॉ॰ एरिक सेल्विग

April 25, 2019 0 comment
1 Facebook Twitter Google + Pinterest

Game of Thrones (गेम ऑफ़ थ्रोन्स) अर्थात “सिंहासनों का खेल” डेविड बेनिओफ़्फ़ और डी. बी. वेइस के द्वारा निर्मित एक अमेरिकी काल्पनिक नाटक टीवी सीरियल है। यह सीरियल जॉर्ज आर-आर मार्टिन की काल्पनिक उपन्यासों की शृंखला अ साँग ऑफ आइस एंड फायर पर आधारित है। इसका सबसे पहला एपिसोड 17 अप्रैल 2011 को एचबीओ पर दिखाया गया था।

Game of Thrones  एक अमेरिकन काल्पनिक ड्रामा है, जिसे विश्व भर में खूब पसंद किया गया और देखा गया| यह एक बहुचर्चित अमरीकी टी.वी. सीरियल  है सबसे पहले HBO टीवी पर आता था और इसका पहला सीजन सन 2017 में पूरा हो चूका है|

इस अग्रेजी धारावाहिक की तारीफ का अंदाजा आप इसी बात से भी लगा सकते है कि इसने अंतराष्ट्रीय स्तर पर व्यूअरशिप के कई रिकॉर्ड बनाये है और ख़ासकर हमारे भारत में भी इसे देखने बहुत लोग है।

गेम ऑफ़ थ्रोन (Game of Throne) अमेरिका के वेस्टरोस के काल्पनिक सात राज्यों और एस्स के महाद्वीप में सेट पर आधारित एक शानदार कहानी है। इस सीरियल में-में आयरलैंड की गद्दी के लिए दायरे के राज परिवारों के बीच हिंसक तथा वंशवादी संघर्ष का वर्णन किया है।

गेम ऑफ थ्रोन्‍स  कितना पॉपुलर है यह आप सभी लोग जानते हैं। क्योंकि इसकी हर एक सीरीज अपने प्रशंसकों को काफी आकर्षित करती है। सिर्फ़ इतना ही नहीं बल्कि इस फिल्‍म का थीम सॉन्‍ग पिछले कुछ समय से इंटरनेट की दुनिया में काफी ज़्यादा लोकप्रिय हो रहा है। इसके देशी और भारतीय वर्जन भी लोगों द्वारा बहुत पसंद किए जा रहे। अभी हल ही में इस कड़ी में एक नया वीडियो बनाया गया है जिसे तक़रीबन 1 लाख लोगों ने देख लिया है।

Game of Throne कैसे देख सकते हैं?

यदि आप भी  Game of Throne के सभी सीरियल्स इंटरनेट पर देखना चाहते है, तो आपके लिए कुछ विकल्प है।

बहुत से लोग जानते है कि HotStar हालाँकि एक बिलकुल ही मुफ्त एप है जिस पर आप बहुत से भारतीय कार्यक्रम और फ़िल्में मुफ्त में देख सकते है, लेकिन यदि आप अंग्रेज़ी कार्यक्रम जैसे गेम ऑफ़ थ्रोन या कोई अंग्रेज़ी फ़िल्में देखना चाहते है तो आपको HotStar का premium सब्सक्रिप्शन लेना होगा

HotStar premium के सब्सक्रिप्शन पर आप पहले महीने बिना पैसे दिए मुफ्त में भी गेम ऑफ़ थ्रोन देख सकते है

इसके लिए आप Hotstar के एप को अपने मोबाइल पर डाउनलोड करें या निम्न लिंक पर जाएँ

http: / / www. hotstar. com / tv / game-of-thrones / 8184

बहुत से लोग जानते ही होंगे की Youtube पर आपको बिना लाइसेंस के और कम क्वालिटी के print में गेम ऑफ़ थ्रोन (Game of Throne) के सीरियल्स मिलेंगे, लेकिन फिर भी यदि आप मुफ्त में ही देखना चाहते है, तो यूट्यूब पर भी इसे देख सकते है।

इसके लिए यूट्यूब की वेबसाइट या एप में जाकर Game of Thrones (Season 1) लिख कर सर्च किया जा सकता है। और आप भी अन्य भारतीयों की तरह Game of Thrones  का आनंद ले सकतें हैं।

July 26, 2018 0 comment
0 Facebook Twitter Google + Pinterest

निर्देशक शाद अली द्वारा निर्देशित आनेवाली फ़िल्म “सूरमा” (Soorma) हॉकी खिलाड़ी संदीप सिंह के जीवन पर आधारित बॉलीवुड बायोग्राफी फ़िल्म है। सोनी पिक्चर्स नेटवर्क इंडिया अर्थात सीएस फ़िल्म्स द्वारा निर्मित फ़िल्म “सूरमा” में दिलजीत दोसांझ और ताप्सी पन्नू मुख्य भूमिका में नजर आयेगें। फ़िल्म में दिलजीत दोसांझ हॉकी खिलाड़ी संदीप सिंह की भूमिका में नजर आयेगें। यह फ़िल्म 13 जुलाई 2018 को रिलीज होगी।

हरियाणा के संदीप सिंह भारतीय हॉकी टीम में पेनल्टी कॉर्नर विशेषज्ञ हुवा करते थे। एक बार की बात है, संदीप सिंह ट्रेन से यात्रा कर रहे थे तभी दुर्घटनावश गोली चल गई | यह गोली सीधे लगी हॉकी प्लेयर संदीप सिंह की रीढ़ की हड्डी में। उस समय संदीप 2006 में जर्मनी में होने वाले हॉकी के विश्व कप में हिस्सा लेने की तैयारी ही कर रहे थे।

गोली लगने के पश्चात् उनकी हालत यह हो गई थी कि डॉक्टर्स का कहना था कि हॉकी खेलना तो दूर अब यह चल भी मुश्किल से पाएंगे, लेकिन सरदार संदीप सिंह तो अलग ही मिट्टी के बने थे। अपने आत्मविश्वास के दम पर वे न केवल चलने लगे बल्कि फिर से भारतीय हॉकी टीम में शामिल हो गए | तथा 2009 में टीम के कप्तान भी बने। 2012 के ओलिम्पिक में भी उन्होंने हिस्सा लिया। कुल मिला कर फ़िल्म “ सूरमा ” (Soorma) की कहानी में संदीपसिंह (Sandeep Singh) के संघर्ष और एक बार फिर से उठ खड़े होने को दर्शाया गया है।

दिलजीत दोसांझ संदीप सिंह की भूमिका में नज़र आएंगे तथा तापसी पन्नू, हरप्रीत का किरदार निभाएगी। बिक्रमजीत सिंह के रोल में अंगद बेदी तथा सिद्धार्थ शुक्ल हरप्रीत के भाई के किरदार में नजर आएंगे। फ़िल्म का संगीत शंकर महादेवन, एहसान नूरानी एवं लोय मेंडोंसा की तिकड़ी ने दिया है ।

अब देखना ये है कि फ़िल्म “सुरमा” दर्शको की नज़र में कितनी “सुरमा” साबित हो पाती है, ये तो 13 जुलाई को फ़िल्म रिलीज़ होने के बाद, फ़िल्म देख कर दर्शकों की भीड़ ही बता पाएंगी ।

July 13, 2018 0 comment
0 Facebook Twitter Google + Pinterest

महशूर अदाकारा श्रीदेवी की बेटी जाह्नवी कपूर की फ़िल्म अभी रिलीज़ भी नहीं हुई और उनकी फ़िल्म “धड़क” (Dhadak) के गानों और वीडियोस को सोशल मीडिया पर इतना अधिक पसंद किया जा रहा है। इस सदी की महान अदाकारा श्रीदेवी के अचानक निधन से पूरा बॉलीवुड और उनके फैंस काफी शॉक थे। सभी को उनके जाने का बहुत अधिक दुःख था। लेकिन अब ऐसा लगता है कि श्री देवी एक बार फिर अपनी बेटी के रूप में बॉलीवुड के परदे पर अपना जादू चलाने को तैयार है। कहने को जाह्नवी श्री देवी की बेटी हैं लेकिन अगर कोई उन्हें एक नजर देखे तो उनमे श्री देवी की झलक दिखाई पड़ती है।

महशूर अभिनेत्री श्रीदेवी की बेटी जाह्नवी कपूर (Janhvi Kapoor) और अभिनेता शाहिद कपूर के भाई ईशान खट्टर (Ishaan Khattar) की आने वाली फ़िल्म ‘धड़क‘ का एक और पोस्टर रिलीज कर दिया गया है। इसमें दोनों की रोमांटिक केमिस्ट्री नजर आती प्रतीत हो रही है।

“धड़क” फ़िल्म की पूरी कहानी सन 2016 में आई मराठी फ़िल्म “सैराट” पर आधारित है। हालांकि फ़िल्म के इस हिन्दी वर्जन को राजस्थान में शूट किया गया है। यह फ़िल्म सदियों से चली आ रही जाति प्रथा और ऑनर किलिंग पर आधारित है। फ़िल्म की कहानी पहले प्यार, पहले जूनून और उसके लिए किये गए पहले त्याग को बताती है। बाकी तो इस फ़िल्म को देखने के बाद ही पता चलेगा।

धड़क” (Dhadak) में जाह्नवी कपूर पार्थवी का किरदार निभा रही हैं। वहीँ ईशान खट्टर मधुकर का किरदार निभा रहे हैं। आदित्य कुमार, पार्थवी के भाई आदित्य का रोल कर रहे हैं। ऐश्वर्या नरकार मधुकर की माँ का किरदार निभा रहीं हैं। इनके अलावा ख़राज मुख़र्जी और आशुतोष राणा भी फ़िल्म धड़क में नजर आएंगे। फिल्म में संगीत अजय-अतुल ने दिया है ।

धर्मा प्रडक्शंस की इस फ़िल्म धड़क के डायरेक्टर शशांक खेतान हैं जो इससे पहले वरुण धवन और आलिया भट्ट स्टारर फ़िल्म ‘बद्रीनाथ की दुल्हनिया’ का निर्देशन भी कर चुके हैं। फ़िल्म 20 जुलाई को रिलीज होने वाली है।

फिल्म ” धड़क ” (Dhadak) के साथ ही दो नए चेहरों का फ़िल्मी दुनियां में पदार्पण हो रहा है । अब देखना ये है की चुलबुली कही जाने वाली अभिनेत्री श्रीदेवी की बेटी जाह्नवी अपनी पहली फिल्म के जरिये दर्शकों के दिलो दिमाग में कंहा तक अपनी जगह बना पाती है ।

July 12, 2018 0 comment
0 Facebook Twitter Google + Pinterest

बच्चों ने परीक्षाएँ देने के बाद राहत की सांस ली है। कमरतोड़ बस्ते की पढ़ाई का एक और साल निकल गया। वे एक और क्लास आगे बढ़ गए | अगली क्लास की पढ़ाई दो महीने बाद शुरू होगी। तब तक के लिए आराम, मस्ती, खेलना-कूदना। अपने आसपास के बच्चों को मैंने उनके ही अंदाज में छुट्टियों (SUMMER VACATION) की प्लानिंग बनाते सुना-

मैं एक हफ्ता ट्रैकिंग पर जाऊंगा। मेरे पापा ने जनवरी में ही मुझे एनरॉल करा दिया था।’

दूसरी आवाज

‘मेरी ममी तो मुझे भरतनाट्यम की क्लास में डाल रही हैं। समर वेकेशन में रोज दो-दो घंटे, उसके बाद वीकेंड में दो-दो घंटे दो दिन।’

फिर आवाज बदल गई

‘मैं अपनी क्लास के दोस्तों के साथ वेस्टर्न डांस क्लास अटैंड करूंगी।’

एक और बालक ने कहा

‘मैं सुबह ताइक्वांडो और शाम को हॉबी क्लास में जाऊंगा।’

धीरे से एक अन्य आवाज आई

‘हम तो अगले मंडे को बैंकॉक जाएंगे। पूरे एक हफ्ते का ट्रिप है एक हफ्ते का।

इस प्रसंग से यकायक अपने बचपन के दिन याद आ गए | परीक्षाएँ होते ही छुट्टियों की मस्ती तुरंत शुरू हो जाती थी। उसके लिए किसी तरह की योजना न तो बच्चों को बनानी पड़ती थी, न ही अभिभावकों को। वास्तव में ज्यादातर परिवारों में तो इस पर कोई ध्यान तक नहीं दिया जाता था। बच्चे खुद ही तरह-तरह के खेलों में जुट जाते थे। हर तरह के खेल। बिना किसी औपचारिक कोर्स-क्लास या खर्च के खेल।

कंचे, गिल्ली-डंडा, खो-खो, कबड्डी, साइकल रेस, साइकल के पहिये या टायर को लकड़ी से चलाना, पूरे मोहल्ले या कभी-कभी शहर में ट्रेजर हंटर सुबह साढ़े छह-सात बजे खेल-कुदव्वल और धमा चौकड़ी शुरू हो जाती। किराये की सायकिल चलाना। बीच में डांट-फटकार के साथ नाश्ता और दोपहर का भोजन होता। दोपहर को डेढ़-दो घंटे की नींद। उठकर, कुछ ठंडाई पीकर घरों में ही खेलना। शाम को फिर बाहर निकल जाना। घर से कई बार के बुलावे के बाद रात को आठ-नौ बजे घर आकर भोजन करना।

उसके बाद भी इस फिराक में रहना कि एकाध घंटे और कुछ मस्ती कर ली जाए. अंत में, दसेक बजे सोते समय मन में अगले दिन की करामातों का लेखा-जोखा बुनना और रात को उन्हीं के सपने देखना।

भारत के कस्बों और छोटे शहरों में गर्मियों की छुट्टियों (SUMMER VACATION) के दौरान यही बाल संसार हुआ करता था। शुरू के 10-15 दिन सारे खेलों को आजमाने के बाद दोपहर को पढ़ने का शगल चलता। हमारे घर नंदन, पराग, चंपक और चंदामामा पत्रिकाएँ आती थीं। कुछ पड़ोसी बच्चे लोटपोट और इंद्रजाल कॉमिक्स लेते थे।

दोपहर को हमारी बैठक (ड्राइंग रूम) लाइब्रेरी बन जाती। पड़ोस के बच्चे अपनी-अपनी पत्रिकाएँ या कहानियों की किताबें ले आते। दो-तीन घंटे सब एक-दूसरे की चीजें पढ़ते। किसी के घर से बुलावा आता, तो वह कहता कि बस ये कहानी पूरी करके आ रहा हूँ। अगले बुलावे तक दो तीन कहानियाँ और पढ़ ली जातीं। खेल-खेल में पढ़ना भी हो जाता था। सभी बच्चों को वहीं से पढ़ने की आदत पड़ जाती। यह बाद में बहुत काम आती। कहानी-किस्से पढ़ने के साथ एक और पढ़ाई का चस्का पांचवीं क्लास के बाद पड़ गया। अगली क्लास की किताबें अपने सीनियर बच्चों से लेकर गर्मियों में पढ़ डालना।

इस सबके दौरान जरा भी अहसास नहीं होता कि पढ़ाई हो रही है। सब कुछ मजे-मजे में हो जाता। न कोई खर्चा, न कोई औपचारिकता, न कोई बंदिश, न ही किसी तरह का दबाव।

पर अब वक्त बहुत  बदल गया है। कुछ भी पहले जैसा नहीं रहा। बच्चों की गर्मियों की छुट्टियां (SUMMER VACATION) भी नहीं। अब तो बस गलाकाट स्पर्धा है, दिखावा है और है आगे बढ़ने की अंधी दौड़। इस सबके कारण मासूमियत कंही खो गई और स्वाभाविकता भी नहीं रही। शायद आज के बच्चे जिंदगी में ज्यादा सफल हो जाएं, मगर जिंदगी के असली पाठ उन्हें कैसे और कहां से मिलेंगे?

June 2, 2018 0 comment
0 Facebook Twitter Google + Pinterest

राजकुमार हिरानी के निर्देशन में संजय दत्त के जीवन के हर उतार-चढ़ाव को दिखाने वाली और साथ ही बकौल हिरानी, आज की युवा पीढ़ी को संजय दत्त के भटके हुए जीवन से सीख दिलाने वाली इस फ़िल्म में रणबीर कपूर, संजू बाबा की भूमिका में हैं। फ़िल्म के नाम को लेकर लंबे समय से कयास लगाए जा रहे थे लेकिन निर्माता विधु विनोद चोपड़ा ने ‘संजू’ (Sanju) नाम की घोषणा की। फ़िल्म में अनुष्का शर्मा, दीया मिर्ज़ा, सोनम कपूर, परेश रावल, मनीषा कोइराला, बमन ईरानी और विक्की कौशल भी हैं।

बॉलीवुड एक्टर संजय दत्त पर बनने वाली फ़िल्म ‘संजू’ (Sanju) में रणबीर कपूर उनका किरदार निभा रहे हैं। बॉलीवुड के मेगास्टार एक्टर संजय दत्त पर बनने वाली फ़िल्म ‘संजू’ का टीजर लॉन्च हो चुका है। इस फ़िल्म में संजय का रोल रणबीर कपूर निभा रहे हैं। इसमें सबसे खास बात यह है कि उनके लाइफ के 6 अहम किरदार, जोकि टीजर में देखने को मिला है। संजय के शुरुआती करियर से लेकर अब तक जितने भी अच्छे-बुरे पड़ाव आए हैं, फ़िल्म में सभी परिस्थितियों को दिखलाया जाएगा। 29 जून को रिलीज होने वाली इस फ़िल्म में रणबीर ने संजय दत्त की तरह मिमिक्री नहीं की, बल्कि अपने ही अंदाज में एक्टिंग की है। टीजर में सबसे खास यह है कि संजू के दिखाए गए किरदारों क्या खास है।

इस फ़िल्म के डायरेक्टर राजकुमार हिरानी ने टीजर लॉन्चिंग के दौरान ‘संजू’ के रोल से जुड़े कई अहम बातें शेयर की थी । उन्होंने कहा था, “आप लोग जैसे वीडियो लाइब्रेरी में जाते हैं तो कॉमेडी, ड्रामा जैसी फ़िल्में उठाते हैं लेकिन संजू ने जब अपनी कहानी बताई तो मैंने देखा कि अलग-अलग तरह की फ़िल्में चल रही हैं।” राजकुमार ने बताया, “संजू ने कहा कि फ़िल्म में जैसा दिखाना चाहते हैं वैसा दिखा दीजिए.” वही रणबीर कपूर ने कहा, “उनकी (संजय दत्त) नकल उतारना काफी असम्मान की बात होगी।” संजय दत्त की तरह मिमिक्री नहीं की, बल्कि अपने ही अंदाज में एक्टिंग की है। टीजर में सबसे खास यह है कि संजू (Sanju) के दिखाए गए किरदारों क्या खास है।

करीब एक मिनट 25 सेकेंड के इस टीज़र में रणबीर कपूर ने संजय दत्त के यंग डेज़ से लेकर उनके पुणे के येरवडा जेल में कैदी होने तक की कहानी बताई है l एक आदमी और उसका कई तरह का जीवन, यही इस फ़िल्म की कहानी का सार है, जिसे राजकुमार हिरानी जैसे जीनियस फ़िल्मकार ने निर्देशित किया है l संजय दत्त के ड्रग्स लेने से लेकर ए के 56 राइफल रखने तक की कहानी को फ़िल्म में खुलकर दिखाया जायगा, कम से कम ऐसा इस टीज़र से तो दिख ही जाता है।

रणबीर कपूर–संजय दत्त

सोनम कपूर–संजू की 80 और 90 दशक की ख़ास दोस्त (माधुरी दीक्षित का नाम लिया जा रहा है)

अनुष्का शर्मा–फ़िल्म पत्रकार

मनीषा कोइराला–संजय दत्त की माँ, नर्गिस दत्त

दीया मिर्ज़ा–संजय दत्त की वर्तमान पत्नी मान्यता दत्त

परेश रावल–पिता सुनील दत्त

विक्की कौशल–संजय दत्त का करीबी दोस्त

करिश्मा तन्ना–संजय की एक और करीबी दोस्त लेकिन रिलेशनशिप नहीं बनी

May 31, 2018 0 comment
0 Facebook Twitter Google + Pinterest

तैयार हो जाइए क्योंकि जल्द ही सिनेमाघरों के पर्दे पर धमाल मचाने आने वाली है फ़िल्म ‘वीरे दी वेडिंग’ (Veere Di Wedding) …इस फ़िल्म में बॉलीवुड ‘बेबो’ यानी करीना कपूर (Kareena Kapoor) शूटिंग के पहले दिन से ही सुर्खियाँ बटोर रही है। कुछ अटकलें और विवाद भी सामने आए, लेकिन इन सबके बीच यह फ़िल्म तैयार की गई ।

दरअसल, 1 जून को एकता के भाई तुषार कपूर के बेटे लक्ष्य कपूर का जन्मदिन है। ऐसे में एकता के लिए ये दिन और भी स्पेशल है। दर्शकों के लिए भी ये फ़िल्म बेहद खास है क्योंकि तैमूर के जन्म के बाद इस फ़िल्म से करीना (Kareena Kapoor) बॉलीवुड में कमबैक करेंगी। ” वीरे दी वेडिंग ” (Veere Di Wedding) एक फीमेल कॉमेडी फ़िल्म है जिसमें सोनम और करीना के साथ ही स्वरा भास्कर और शिखा तलसानिया ने काम किया है।

पिछले दिनों सोनम कपूर, करीना कपूर, स्वरा भास्कर और शिखा तलसानिया स्टारर फ़िल्म ‘वीरे दी वेडिंग’ का ट्रेलर लॉन्च हुआ और दर्शकों ने इसे काफी पसंद भी किया। चार महिलाओं के इर्द-गिर्द घूमती यह फ़िल्म नए ज़माने के हिसाब से उनके आजाद खयालों और खुलकर जीने की तमन्ना को दर्शाती है।

फ़िल्म के प्रोड्यूसर्स भी इस फ़िल्म की रिलीज से पहले फ़िल्म पर काम करने में लगे हुए हैं। इसी बीच फ़िल्म के नए गाने ‘वीरे’ को रिलीज कर दिया गया है। फ़िल्म का यह गाना चारों दोस्तों की यारी को दिखा रहा है और चारों एक दूसरे के साथ कितने कम्फर्टेबल हैं। गाना देखने में तो आपको अच्छा लगेगा ही लेकिन गाने के लिरिक्स और म्यूजिक भी आपको काफी पसंद आने वाले हैं।

फिल्हाल अब तक इस फ़िल्म के सभी पोस्टर्स काफी आकर्षक ही नजर आए हैं। ये फ़िल्म भी मजेदार साबित होती है या नहीं ये देखना होगा। 1 जून को रिलीज होने जा रही इस फ़िल्म में सोनम कपूर, करीना कपूर, स्वरा भास्कर, शिखा तल्सानिया और सुमित व्यास दिखाई देंगे। फ़िल्म को शशांक घोष डायरेक्ट कर रहे हैं। इसे मेहूल सूरी और निधि मेहरा ने लिखा है। इसे अनिल कपूर और एकता कपूर की कंपनी मिलकर प्रोड्यूस कर रहे हैं।

वीरे दी वेडिंग (Veere Di Wedding), जैसा की नाम से ही पता चलता है, किसी वेडिंग की कहानी है। इसे इंडिया की रियल ‘चिक फ्लिक’ फ़िल्म कहा जा रहा है यानी ऐसी फ़िल्म जो फीमेल ऑडियंस को ध्यान में रख कर सेलिब्रेशन और मौज मस्ती को दर्शाती हो। फ़िल्म की कहानी के मुताबिक ये चार सहेलियों की कहानी है, जो शादी में बढ़-चढ़ कर हिस्सा लेने जाती हैं और इस दौरान कई सारे ट्विस्ट एंड टर्न आते हैं। जो आप फिल्म को देखने के समय देख पाएंगे  ।

May 22, 2018 0 comment
0 Facebook Twitter Google + Pinterest

सैफ अली खान की  नए  साल के  दूसरे शुक्रवार यानि १२ जनवरी को रिलीज़ होने जा रही फिल्म कालकांडी (Kaalakaandi) एक ब्लैक कॉमेडी फिल्म है।  यह फिल्म जीवन, मृत्यु और कर्म की बात  करती थी।  2013 के आसपास इस फिल्म से यूटीवी जुड़ा  हुआ था।  उस समय फिल्म में सैफ के किरदार के लिए पाकिस्तानी एक्टर फवाद खान से संपर्क किया गया था। लेकिन, आगे चल कर फवाद फिल्म से बाहर हो गए।  उस समय फिल्म में कुणाल रॉय  कपूर, विजय  राज, विजय ओबेरॉय, आदि को भी कास्ट में  किया गया था।

फिल्म के शुरू होने से चार दिन पहले ही प्रोजेक्ट बंद करने का ऐलान कर दिया गया।  कुछ समय बाद फिल्म फिर शुरू हुई।  फवाद और यूटीवी के फिल्म से निकल जाने के बावजूद यह एक्टर फिल्म में ही रहे।  फवाद खान की जगह सैफ अली खान ने ले ली।   इस  बात बताते हुए फिल्म के निर्देशक अक्षत वर्मा कहते  है, “इस रोल को सैफ से अच्छा दूसरा कोई एक्टर नहीं कर सकता था।” कालकांडी (Kaalakaandi) एक रात की, छह किरदारों के इर्दगिर्द घूमती कहानी है।

निदेशक अक्षत वर्मा ने गुप्त रूप से उल्लेख किया कि यह फिल्म  “एक रात क्या होता है’ के बारे में है” और हमने जो कुछ छोटी झलक दिखाई है, हम सोचते हैं कि सैफ अली खान के चरित्र के बाद एक जंगली साहसिक पर नेविगेट किया गया है । यह नहीं भूलें कि वर्मा एक ही फिल्म निर्माता है।

kaalakandi

यहां सैफ का चरित्र है, अगर वह पिंग-पोंग बॉल हिट और ब्रेक-द-ईंट गेम ‘बोरनोइड’ का हिस्सा था। कौन इस खेल को भूल सकता है, जो टीवी वीडियो गेम्स के उन दिनों में और बाद में पीसी में टाइम-किलर का एक नरक था! एक मनोरंजन से अधिक यह बेवकूफी, चिंतन आत्माओं को पूरा करने के लिए इस्तेमाल किया गया था जब कोई व्हाट्सएप और फेसबुक हमें विचलित करने के लिए नहीं था।

सैफ  के चरित्र ‘बॉम्बरमैन’ की दुनिया में प्रवेश कर रहे हैं – छोटे बॉट जो जीवित बम लगाने के लिए इस्तेमाल होते थे, जो तब दूसरे विस्फोटों और बाधाओं से दूर रखते हुए विस्फोट करते थे और तरीके खोलते थे ।

फिल्म के निर्देशक अक्षत  वर्मा तथा रोहित खट्टर द्वारा निर्मित  इस  फिल्म में  सैफ अली खान, अक्षय  ओबेरॉय , कुणाल  रॉय कपूर दीपक डोबरियाल ,  विजय राज़ सोभिता  धूलिपाला ईशा तलवार इत्यादि कलाकार हैं । यह सिनेस्टैन फिल्म कंपनी और फ्लाइंग यूनीकॉर्न एंटरटेनमेंट द्वारा निर्मित है ।

कालकांडी (Kaalakaandi)  फिल्म की रिलीज़  डेट  12 जनवरी, 2018 है  ।

 

January 9, 2018 0 comment
0 Facebook Twitter Google + Pinterest

डायरेक्टर अनुराग कश्यप की आने वाली फ़िल्म ‘मुक्काबाज (Mukkabaaz)’ का ट्रेलर भी अब रिलीज हो गया है। इस फ़िल्म में जातिवाद के साथ-साथ भ्रष्टाचार के मुद्दे को बड़ी ही चतुराई से उठाया गया है और यह फ़िल्म उत्तर प्रदेश की पृष्ठभूमि पर आधारित है।

मुक्काबाज (Mukkabaaz) का ट्रेलर को देखकर साफ है कि फ़िल्म की कहानी श्रवण सिंह नाम के एक बॉक्सर की है जो स्थानीय डॉन जिमी शेरगिल के जिम में बॉक्सिंग सीखता है लेकिन इसी दौरान उसे फ़िल्म में दिखाया गया है कि एक बॉक्सर कहाँ से आता है, समाज में बॉक्सिंग की क्या स्थिति है और उसे कितना पसंद किया जाता है। फ़िल्म का पोस्टर भी काफी दमदार नजर आ रहा है। फ़िल्म में विनीत कुमार, जिम्मी शेरगिल, रवि किशन जैसे ऐक्टर्स मुख्य भूमिका में हैं।

ट्रेलर लॉन्च के मौके पर अनुराग ने इस फ़िल्म के आइडिया से जुड़े सवाल पर कहा, हम अचानक से बहुत सारी स्पोर्ट्स मूवीज बनाने लगे थे। हमारे पास स्पोर्ट्स मूवीज हमारे मेडल से ज़्यादा हैं। अगर दुनिया भर के भारतीयों को देखें तो हम चीन के बराबर ही हैं, लेकिन मेडल्स के मामले में हम हमेशा उनसे नीचे ही रहते हैं। चक्कर क्या है? क्यों हमारे यहाँ स्पोर्ट्समैन नहीं निकल पाते?

Mukkabaaz

यह खुलासा तब हुआ जब फ़िल्म के हीरो विनीत सिंह ट्रेनिंग के लिए गए | विनीत ने एक साल तक असल बॉक्सर्स के साथ ट्रेनिंग की। वहाँ जब वह बॉक्सर्स से मिले, तब असल बात निकल कर आई कि दिक्कत कहाँ थी। उसी को हमने इस फ़िल्म में एक लव स्टोरी के जरिए दिखाने की कोशिश की है।

बकौल अनुराग, ‘मेरे हिसाब से यह सबसे ज़्यादा प्रो-स्पोर्ट्स फ़िल्म है। हम लोग एक मेडल जीतते हैं, तो पागल हो जाते हैं। खुशी के मारे हम बौरा जाते हैं और फिर उसमें हम भूल जाते हैं कि असल में हुआ क्या था? एक छोटे से मेडल पर इतना ज़्यादा सेलिब्रेट किया जाता है कि वह छोटा-सा मेडल पाने वाला खिलाड़ी अगली बार क्वॉलीफाई भी नहीं कर पाता। यह फ़िल्म उस विडंबना से आई है।

January 6, 2018 0 comment
0 Facebook Twitter Google + Pinterest
Newer Posts
Loading...