Home Sports भारत बनाम पाकिस्तान – किसमे कितना हैं दम

भारत बनाम पाकिस्तान – किसमे कितना हैं दम

written by Aniket Gujrathi June 3, 2017

क्रिकेट की दुनिया के दो सबसे बड़े चिर प्रतिद्वंद्वी भारत-पाकिस्तान के बीच ४ जून को होने वाले मैच की  चर्चाओं ने जोर पकड़ ली है. दोनों देशों के बीच मैच का जिक्र होते ही भारत-पाकिस्तान के बीच हुए यादगार मैचों की यादें ताजा हो जाती है. दोनों पड़ोसी मुल्कों के बीच बहुत सारे यादगार मैच हुए हैं, लेकिन कुछ मैच ऐसे हुए, जिन्हें कभी नहीं भुलाया जा सकता. आइए आपको भारत-पाक के कुछ  यादगार मैचों से रूबरू कराते हैं |

1986  में  शारजाह में चेतन शर्मा की आखिरी गेंद पर मियांदाद का  कभी न भूलने वाला छक्का यह सिर्फ भारत-पाकिस्तान का ही नहीं, बल्कि क्रिकेट के इतिहास का सबसे यादगार वनडे था. पाकिस्तान को आखिरी गेंद पर जीत के लिए चार रनों की जरूरत थी और जावेद मियांदाद ने चेतन शर्मा की गेंद पर छक्का जड़कर अपनी टीम को रोमांचक जीत दिलाई थी. चेतन शर्मा आज भी उस गेंद की टीस को नहीं भुला पाए हैं |

1987 में एक टाई मैच में  हैदराबाद में भारत ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 212 रन बनाए और पाकिस्तानी टीम भी 212 से आगे नहीं बढ़ पाई. मैच टाई हो गया. लेकिन भारत इस स्कोर तक 6 विकेट खोकर पहुंचा था, जबकि पाकिस्तान ने 212 तक पहुंचने में अपने सात विकेट गंवा दिए थे. इसलिए इस मैच में भारतीय टीम को विजेता घोष‍त किया गया था |

1987 में चेन्नई में खेले गए उस मैच में सईद अनवर ने ऐसी पारी खेली, जिसकी उम्मीद किसी ने नहीं की थी. सईद अनवर ने 146 गेंदों पर 194 रनों की धुआंधार पारी खेलकर वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाया था. यह उस वक्त वनडे क्रिकेट की सबसे बड़ी पारी थी और भारत उस मैच में 35 रन से हार गया था |

सेंचुरियन में 2003 वर्ल्ड कप का कभी न भूलने वाल मैच था और पाकिस्तान ने पहले खेलते हुए सईद अनवर के शतक के दम पर 273 का अच्छा स्कोर खड़ा किया. लेकिन उसके बाद जब टीम इंडिया ने जैसे ही बैटिंग शुरू की तो शोएब अख्तर और वकार युनूस की मुसीबत आ गई. सचिन ने दोनों की जमकर धुनाई करते हुए 98 रनों की ताबड़तोड़ पारी खेली. भारत ने 4 ओवर बाकी रहते हुए लक्ष्य हासिल कर लिया और उस मैच की पिटाई के बाद वकार युनूस का करियर ही चौपट हो गया |

2011 का वर्ल्ड कप तो कोई भी क्रिकेट प्रेमी  कभी नहीं  भूल सकता, लेकिन फाइनल से भी ज्यादा यादगार मोहाली में खेला गया भारत-पाकिस्तान का सेमीफाइल था. टीम इंडिया ने पहले खेलते हुए 260 रन बनाए थे और भारतीय गेंदबाजों ने पाक टीम को 231 पर ऑल आउट कर मैच जीत लिया था. जहीर, नेहरा, मुनाफ, हरभजन और युवराज ने 2-2 विकेट लिए थे, जबकि सचिन 85 रनों की जुझारू पारी खेली थी | 

आशा करते हैं की ४ जून को भी भारतीय टीम उत्कृष्ठ प्रदर्शन करेगी तथा यह मैच भी भारत की जीत के साथ ही  इतिहास के पन्नो में दर्ज होगा |

You may also like

Leave a Comment

Loading...