Home Sports चैंपियंस ट्रॉफी में एक बार फिर भारत-पाक आमने सामने- महामुकाबला

चैंपियंस ट्रॉफी में एक बार फिर भारत-पाक आमने सामने- महामुकाबला

written by currentaffairs May 26, 2017

मिनी वर्ल्ड कप यानी चैंपियंस ट्रॉफी में एक बार फिर से भारत और पाकिस्तान आमने सामने होंगे। इस मैच का क्रिकेट फैंस को बेसब्री से इंतजार है। गौरतलब है कि चैंपियंस ट्रॉफी 1 जून से 18 जून तक चलेगा। टूर्नामेंट में भारतीय टीम अपना आगाज मैदान से सबसे पुराने दुश्मन पाकिस्तान के खिलाफ करेगी।

4 जून २०१७ को चैंपियंस ट्रॉफी में भारत और पाकिस्तान के बीच महा मुकाबला खेला जाएगा। पिछली बार जब भारत और पाकिस्तान आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी में आमने सामने आए थे तब भारत ने आठ विकेट से जीत हासिल की थी। मौजूदा दौर में भी पाकिस्तानी टीम भारत के आगे कमजोर ही नजर आ रही है। पाकिस्तान की वनडे रैंकिंग 8 है और पिछली कुछ सिरीज़ में उसका प्रदर्शन बेहद खराब रहा है लेकिन इसके बावजूद भारत के खिलाफ पाकिस्तान अच्छा प्रदर्शन कर सकता है। इतिहास गवाह है कि जब-जब भारत और पाकिस्तान की टक्कर होती है मुकाबला हमेशा बेहद कड़ा होता है।

क्रिष गेल के अनुसार यह एक अच्छा मैच होगा और हां, जब आईसीसी टूर्नामेंट की बात आती है तो भारत का पलड़ा हमेशा पाकिस्तान पर भारी होता है।हाँ इतना जरूर है , हमे भी पाकिस्तान को कमजोर नहीं समझना चाहिए , खासकर पाकिस्तान के कुछ खिलाड़ियों जैसे बाबर आजम , मोहम्मद हफीज , शोएब मलिक , इत्यादि को ध्यान में रख कर अपनी मैदानी तथा दिमागी रणनीति बनाना चाहिए। चैम्पियंस ट्रॉफी के लिए टीम इंडिया के अधिकतर खिलाड़ी वहीं है जो पिछले चैम्पियंस ट्रॉफी में थे और इन्ही खिलाड़ियों की बदौलत टीम इंडिया 2013 चैम्पियंस ट्रॉफी में सिकंदर साबित हुई थी।

इन खिलाड़ियों ने चैंपियंस ट्रॉफी में पिछली बार शानदार प्रदर्शन किया था। अगर इतिहास में भारत का रिकॉर्ड चैंपियंस ट्रॉफी में देखे तो इस बार भी जीत सो परसेंट पक्की लगती है। पिछली बार जब भारत पाकिस्तान चैम्पियंस ट्रॉफी में आमने-सामने आए थे तो पाकिस्तान की एक न चली थी और भारत ने मैच एकतरफा कर दिया था। पाकिस्तान ने इस मैच में पहले बल्लेबाजी की थी और महज 165 रन बना पाए थे और भारत ने बड़ी ही आसानी से डकवर्थ लुईस के तहत 19 ओवर में यह मुकाबला जीत लिया था।

इस मैच में मैन ऑफ द मैच बने थे भुवनेश्वर कुमार। जी हां वहीं भुवेनश्वर कुमार जो आईपीएल में शानदार फॉर्म में रहे हैं। ऐसे में उनकी गेंदबाज़ी भारत की जीत की सम्भावना बढाती है ।भारतीय टीम में विस्फोटक बल्लेबाज शिखर धवन को भी शामिल किया गया है जो पिछली बार चैम्पियंस ट्रॉफी में प्लेयर ऑफ द सीरीज थे। चैंपियंस ट्रॉफी का रिकॉर्ड बताता है कि इस बार भी शिखर धवन जब भारत की तरफ से सलामी बल्लेबाज़ी करने आएंगे तो पाकिस्तान ही क्या वह किसी भी टीम के गेंदबाज़ो की हालत खराब कर सकते हैं।पिछली बार 5 मैच में धवन ने 363 रन बनाए थे।विराट दुनिया भर में अपनी बल्लेबाज़ी के लिए जाने जाते हैं। विराट कोहली का पाकिस्तान के खिलाफ भी शानदार रिकॉर्ड है ऐसे में वह भारतीय टीम के लिए जीत के नायक बन सकते हैं। विराट कोहली ने पिछली बार 5 मैच में 176 रन बनाए थे। यदि उपरोक्त भारतीय खिलाड़ियों ने एक बार फिर से इतिहास दोहराया तो यकीन मानियें , भारत की जीत पक्की हैं ।

इस टूर्नामेंट के लिए 30 सितंबर 2015 तक टॉप पर रहने वाली आठ टीमों ने क्वालीफाई किया है, जिसमें विश्व चैम्पियन ऑस्ट्रेलिया को टॉप रैंकिंग मिली है। टीम ग्रुप ए में टॉप पर है, जिसमें चौथी वरीयता प्राप्त न्यूजीलैंड, छठवें नंबर की टीम इंग्लैंड और सातवें नंबर पर बांग्लादेश की टीम भी शामिल हैं। बांग्लादेश की टीम 2006 के बाद पहली बार इस प्रतियोगिता में वापसी कर रही है। भारत ग्रुप बी में टॉप पर है, जिसमें तीसरे नंबर की टीम दक्षिण अफ्रीका, पांचवीं नंबर की श्रीलंका और आठवें नंबर की पाकिस्तानी टीम मौजूद है। हर ग्रुप से टॉप दो टीमें सेमीफाइनल तक पहुंचेंगी, जो 14 जून को कार्डिफ और 15 जून को एजबेस्टन में खेला जाएगा। फाइनल की मेजबानी द ओवल करेगा। फाइनल के लिये एक सुरक्षित दिन भी रखा गया है। कार्यक्रम की घोषणा करते हुए आईसीसी सीईओ डेविड रिचर्डसन ने कहा, ‘आईसीसी चैम्पियन ट्रॉफी एक छोटा टूर्नामेंट है, जिसका लुत्फ दर्शक और खिलाड़ी दोनों उठाएंगे।

हम यंहा पर ग्रुप बी में भारत के मैच कब कब हैं . यह भी बता रहे हैं ।’
४ जून : भारत बनाम पाकिस्तान, एजबेस्टन
८ जून : भारत बनाम श्रीलंका, द ओवल
11 जून : भारत बनाम दक्षिण अफ्रीका, द ओवल
14 जून : पहला सेमीफाइनल : ए 1 बनाम बी 2, कार्डिफ
15 जून : दूसरा सेमीफाइनल : ए 2 बनाम बी 1, एजबेस्टन
18 जून : फाइनल, द ओवल
19 जून : रिजर्व डे।

You may also like

Leave a Comment

Loading...